डिजिटल विमर्श
Home » लेख » समाचार » सामाजिक संदेश » मिठाइयों के संदेश

मिठाइयों के संदेश

प्रेषक: श्री गोपाल कसेरा (फोन: 8602699970)

हमारी मिठाइयों पर गौर कीजिए, कुछ ना कुछ संदेश देती है, जैसे

1️⃣ *जलेबी* आकार मायने नहीं रखता, स्वभाव मायने रखता है, जीवन मे उलझने कितनी भी हो, *रसीले और मधुर रहो* ॰॰

2️⃣ *रसगुल्ला* कोई फर्क नहीं पड़ता कि, जीवन आपको कितना निचोड़ता है, *अपना असली रूप सदा बनाये रखें*

3️⃣ *लड्डू* बूंदी-बूंदी से लड्डू बनता, छोटे-छोटे प्रयास से ही सबकुछ होता हैं! *सकारात्मक प्रयास करते रहे.* ॰॰

4️⃣ *सोहन पापड़ी* हर कोई आपको पसंद नहीं कर सकता, लेकिन बनाने वाले ने कभी हिम्मत नहीं हारी। *अपने लक्ष्य पर टिके रहो* ॰॰

5️⃣ *काजू कतली* अपने आप को इतना सस्ता ना रखे, की राह चलता कोई भी आपका दाम पूछता रहे ! *आंतरिक गुणवत्ता हमें सबसे अलग बनाती है*

6️⃣ गुलाब जामुन सॉफ्ट होना कमजोरी नहीं है! ये आपकी खासियत भी है। *नम्रता यह एक विशेष गुण है*

7️⃣ बेसन के लड्डू यदि दबाव में बिखर भी जाय तो, फिरसे बंधकर लड्डु हुआ जा सकता है। परिवार में एकता बनाए रखें।

टेक्स्ट की साइज़ सेट करें

इस लेख के रचनाकार से मिलिये

प्रदीप वर्मा (हैहयवंशीय)

मास्टर इन कम्प्युटर एप्लिकेशन (MCA), मास्टर इन हिन्दी लिट्रेचर (MA, साहित्य), पी॰एस॰एम॰ (scrum॰org, यूएस), बेचलर ऑफ लॉं (LLB ऑनर), बेचलर ऑफ कॉमर्स, एम.एस.पी.सी.ए.डी.

हमारा धर्म हमारी संस्कृति

टेक्स्ट की साइज़ सेट करें