संपादकीय: शक्ति और समृद्धि विशेषांक

संपादकीय

सभी हैहयवंशीय भाइयों और बहनों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं । माता महालक्ष्मी जी की आप सभी पर सदैव कृपा बनी रहे । आपका परिवार स्वस्थ, सुरक्षित और प्रसन्नता पूर्वक रहे यही हमारी शुभकामनाएं हैं ।

विमर्श का यह अंक “शक्ति और समृद्धि” विशेषांक है । शक्ति और समृद्धि एक रूपक है सामाजिक सक्षमता का, समाज के लोगों की वैचारिक वैभवता का और सामाजिक स्थिति का । इस अंक में समाज के गुणी लेखकों ने अपने विचारों से इस अंक को समृद्ध किया है । हर अंक की तरह यह अंक भी संपूर्ण परिवार केलिये पठनीय है ।

यह बताते हुए प्रसन्नता हो रही है कि भगवान श्री सहस्रबाहु जी के जन्मदिन मनाने हेतु लोगों में अत्यंत उत्साह है । इस अंक में हैहयवंश से संबंधित बहुत सुंदर और ज्ञानवर्द्धक लेख आपको पढ़ने को मिलेंगे । विमर्श की और से सभी हैहयवंशीय साथियों को सहस्रबाहु जयंती की अग्रिम शुभकामनाएं ।

दीपावली के अवसर पर यह अंक आ रहा है । दीपोत्सव की रोशनी हमारे जीवन को और शुभप्रकाश से भर दे इन्ही भावनाओ से ओतप्रोत दीपावली काव्य भी पढ़ने पर आपको आनंदित करेगा ।

उम्मीद करते हैं आपको हमारा प्रयास पसंद आएगा । आपसे एक निवेदन है , कृपया अपने सभी संपर्कों तक विमर्श अवश्य पहुंचाएं और उन्हें पढ़ने हेतु प्रेरित करें । विमर्श आपकी अपनी पत्रिका है ।

धन्यवाद, शुभ दीपावली

आप और हम बढ़ेंगे साथ साथ

प्रदीप वर्मा (हैहयवंशीय)
Latest posts by प्रदीप वर्मा (हैहयवंशीय) (see all)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *