डिजिटल विमर्श

लेखक - श्री भूपेन्द्र वर्मा हैहयवंशीय

Home » Archives for श्री भूपेन्द्र वर्मा हैहयवंशीय

सामाज में एकरुपता व उत्तरदायित्व

समाज की वास्तविक शक्ति समाज के सदस्यों में निहित होती है. सामाजिक जीवन में समाज के सदस्यों का आशावादी, सकारात्मक दृष्टिकोण, सकारात्मक सोच का होना का अत्याधिक महत्वपूर्ण होता है. समाज के सदस्यों की सकारात्मक सोच...

सहानुभूति एवं दानशीलता

सहानुभूतिसामाजिक जीवन में सहानुभूति, सौहार्द का मानवीय संवेदनाओं में एक विशेष सहयोगत्मक स्थान होता है| सामाजिक जीवन में हम सहानुभूति, सौहार्द, पुर्ण व्यवहार से समाज के अन्य मित्रों, सहयोगियों, रिश्तेदारों, के दुख दर्द...

समाज के प्रति नकारात्मक मानसिकता एवं सामाजिक अलगाव

प्राय देखा जाता है कि समाज में कुछ लोग की नकारात्मक सोच, पृवृति होकर, यह कहते पाये जाते हैं कि समाज ने हमारे लिए क्या किया है जो हम समाज को समय दे, या समाज को सहयोग करे. ऐसे लोग प़ाय समाज में रिश्ते सिर्फ अपने स्वार्थ...

ऐतिहासिक विरासत, सम्पतियों को संरक्षित किया जाना चाहिए

खुरई तहसील जिला सागर के अन्तर्गत ग़ाम गडोला जागिर ग़ाम में हैहय बंशी क्षत्रिय समाज के शक्ति माता स्थल का जीर्णोद्धार कर मंदिर का निर्माण किया जाकर समाज की महत्वपूर्ण विरासत, सम्पत्ति को संरक्षित किया गया. इस शक्ति माता...

श्रेष्ठ विकासशील सामाजिक संगठन के लिए आवश्यक तत्व

श्रेष्ठ विकासशील सामाजिक संगठन के लिए आवश्यक तत्व मानव आदिकाल से ही सामाजिक प्राणी होकर, अपना समाज, समूह बनाकर रेहता है | वह अपनी स्वयं की, परिवार की समस्त गतिविधियां सामाजिक संबंधों के अन्तर्गत करता हुए, अपनी...

वर्ष 2021 में समाजिक सहयोग के कुछ संकल्प

वर्ष 2021 में समाजिक सहयोग के कुछ संकल्प वर्ष 2020 करोना महामारी की भेंट चढकर समाप्त हो गया. यह बर्ष जीवन में कुछ खट्टे मिठ्ठे कुछ अच्छे कुछ बूरे अनुभव छोड़ गया है. इस बर्ष में लाकडाऊन काल में  कईं व्यक्तियों, परिवारों...

सहस्रबाहु अर्जुन के जीवन ऐतिहासिक विश्लेषण

भागवत पुराण में किर्तिविर्य सहस्रबाहु अर्जुन का राज्यकाल 85 हजार बर्ष एवं एक हजार भुजाओं होना बताया गया है, जोकि कल्पनिक, अविश्वसनीय होकर सत्य प़तित नहीं लगता है | इस प्रकार हमारे पुराणों में सहस्रबाहु का जीवन चरित्र...

टेक्स्ट की साइज़ सेट करें