डिजिटल विमर्श

लेखक - हैहयवंशी चंद्रकांत ताम्रकार 

Home » Archives for हैहयवंशी चंद्रकांत ताम्रकार 

श्री सहस्रार्जुन की माहिष्मति : विलुप्त होती हमारी गौरवशाली ऐतिहासिक विरासत

महेश्वर : मध्यप्रदेश के खरगोन जिला स्थिति मोक्ष-दायिनी माँ नर्मदा के पावन तट पर बसा यह नगर आज एक बार फिर से सुर्ख़ियों में है । दिनांक 01/07/2019 से 07/04/2019 तक यहाँ बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता सलमान खान एवं उनके...

हैहयवंशीय क्षत्रिय समाज के स्वर्णिम हस्ताक्षर : श्री रामसहाय हयारण “प्रचंड”

जीवन का " प्रचंड " परिचय मध्यप्रदेश के सागर जिले के मालथौन नामक एक छोटे से कस्बे के मूल निवासी रहे स्व.श्री नाथूराम जी की 2 पत्नियां थीं । आपकी प्रथम पत्नि स्व.श्रीमती मथुरा बाई से 2 पुत्र स्व.श्री रामलाल जी, स्व.श्री...

कविता: बेटियाँ

बिक गये घर कई, बिक गयी खेतियांबैठ पायी है डोली में तब बेटियां ।माँ की चूड़ी बिकी, बिक गयीं बालियांहाथ मेहँदी रचा पायी तब बेटियां ।हलवा, पूड़ी तो बेटो के खातिर बने,बॉसी रोटी चबाती रही बेटियां ।भैया, भाभी भी अपमान करते...

सेवा संस्मरण: मेरे बाद

व्यक्तिगत, सामाजिक एवं सार्वजनिक जीवन में उम्र के अंतिम पड़ाव पर..मेरे अंतर्मन में यह ख्याल बार-बार आता है, कि मेरे बाद, वर्षों से कभी न टूटने वाली चिर निद्रा में सोये मेरे बिखरे हुए हैहयवंशीय क्षत्रिय समाज का ख्याल कौन...

समाज, संगठन और सहयोग 

समाज, संगठन और सहयोग  (सम सामयिक) हमारा हैहयवंशीय क्षत्रिय समाज मूलत: मजदूरी और व्यवसाय से जुड़ा हुआ समाज है । समय के साथ तेजी से बदलते परिदृश्य के बावजूद आज भी लगभग 30% से अधिक स्वजातीय परिवार  मजदूरी करके जैसे तैसे...

ताम्रकार समाज बीना द्वारा स्नेह मिलन एवं सम्मान समारोह का आयोजन

बीना : हैहयवंशीय क्षत्रिय ताम्रकार समाज बीना के तत्वावधान में दिनांक 14/02/2021 को स्थानीय मां गायत्री शक्तिपीठ मंदिर परिसर में स्नेह मिलन एवं सम्मान समारोह का आयोजन मुख्यअतिथि स्थानीय विधायक श्री महेश राय जी, भाजपा...

अयोध्या : प्रभु श्री राम की जन्मभूमि

“ मर्यादा पुरूषोत्तम, धर्मरक्षक  प्रभु श्री राम और उनकी जन्मभूमि के रूप में अयोध्या निश्चित रूप से हमारी आन-बान और शान सहित हमारी श्रद्धा एवं  आस्था के प्रतीक हैं ”  लगभग 500 वर्षों से चले आ रहे श्रीराम...

खुरई: स्नेह मिलन बैठक, भव्य अभिनंदन एवं  अलंकरण समारोह

खुरई: स्नेह मिलन बैठक, भव्य अभिनंदन एवं  अलंकरण समारोह हैहयवंशीय क्षत्रिय समाज मातृशक्ति कल्याण समिति (पंजीकृत) एवं रिश्तों की ” शुभ पहल ” सेवा परिवार (पंजीकृत) के संयुक्त तत्वाधान में मध्यप्रदेश के...

अपनी अपनी ढपली-अपना अपना राग

व्यक्ति, समाज और संगठन..अपनी अपनी ढपली-अपना अपना राग.. ” विमर्श ” के इस अंक के लिये भी, हमेशा की है तरह मैंने वर्तमान परिवेश के अनुरूप ही विषय का चयन किया है । विषय के अनुरूप विचार साझा करने से पूर्व, आप सभी...

स्त्री और पुरूष परस्पर पूरक

अविवाहित युवकों की बढ़ती उम्र और संख्या : हम और आप मौन, जिम्मेदार कौन ?  उक्त विषय वर्तमान परिवेश की सम-सामयिक और ज्वलंत समस्या है, जिसने समूची मानवीय सभ्यता के भविश्य समक्ष प्रश्न चिन्ह लगा दिया है ! इस सम-सामयिक...

स्मृति शेष: परमपूज्य श्री प्रेमशंकर ताम्रकार “घायल”

स्मृति शेष: समाज-रत्न परमपूज्य श्री प्रेमशंकर ताम्रकार  “घायल” स्मृति शेष परमपूज्य श्री प्रेमशंकर ताम्रकार  “घायल” के श्री चरणों में सादर नमन करते हुए उनके कृतित्व व व्यक्तित्व का परिचय देते हुए...

बेटी नहीं बचाओगे, तो बहू कहाँ से लाओगे

हैहयवंशीय क्षत्रिय समाज और विवाह योग्य युवतियों की संख्या में कमी.. आज..मैं आप सभी के सन्मुख जिस विषय पर अपने विचार  प्रस्तुत कर का प्रयास कर रहा हूँ । वर्तमान परिप्रेक्ष्य की उस कड़वी सच्चाई से हम और आप भली भांति परिचित...

संस्मरण : हैहयवंश शिरोमणि डॉ श्री लखनलाल ताम्रकार

हैहयवंश शिरोमणि: डॉ श्री लखनलाल ताम्रकार आत्मज स्व श्री शंकर लाल जी  ताम्रकार  मध्यप्रदेश में भगवान श्री राजराजेश्वर श्री सहस्रार्जुन जी की प्राचीन माहिश्मती के नाम से पहिचाने जाने वाली, मोक्ष दायिनी रेवा मैया के किनारे...

श्री सहस्रार्जुन सम्मान 2020 

रिश्तों की..” शुभ पहल ” सेवा परिवार (पंजीकृत) द्वारा भगवान श्री सहस्रार्जुन जी के मंगल प्राकट्योत्सव के अवसर पर एक और अभिनव पहल “श्री सहस्रार्जुन सम्मान” 21/11/2020 तक व्यक्तिगत आपके द्वारा अगर...

टेक्स्ट की साइज़ सेट करें