डिजिटल विमर्श

लेखक - प्रदीप वर्मा (हैहयवंशीय)

Home » Archives for प्रदीप वर्मा (हैहयवंशीय)

आत्मा की आंखें: रामधारी सिंह दिनकर

राष्ट्रकवि ‘दिनकर’ की कविताओं में एक और ओज, विद्रोह और क्रांति की पुकार है तो दूसरी और कोमल श्रृंगारिक भावनाओं की अभिव्यक्ति । वे संस्कृत, बांग्ला, अंग्रेजी और उर्दू भाषा पर आधिकारिक पकड़ रखते थे । पद्मविभूषण...

हस्तकला का शानदार प्रदर्शन

राजस्थान का कोटा शहर यूं तो देश भर मे कोटा स्टोन और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के केंद्र के रूप मे जाना जाता है, लेकिन आज हम आपके सामने प्रस्तुत कर रहे हैं हैहयवंशीय क्षत्रिय समाज के एक ऐसे कलाकार को जो वैसे तो एक...

ये हैं भविष्य के रोजगार, अपने बच्चों को करें तय्यार

जो लोग भविष्य की तैयारी वर्तमान में कर लेते हैं उनका भविष्य सफलतम समय देखता है । कोई खेल हो, जिंदगी के सपने हों, या रोजगार और अच्छे कैरियर की अभिलाषा, सफलता आज की आज नहीं मिलती । आज जिनको सफलता मिली है, उनकी तैयारी...

भारतीय भोजन से दूर होने के दुष्परिणाम

भारतीय भोजन से दूर होने के दुष्परिणाम इम्युनिटी पावर कैसे बनेगी, हर भारतीय गंभीर बीमारियों का शिकार – हर घर होंगा अस्पताल,शुरूआत हो चुकी है, बंद नही हुई मिलावट तो “बल, बुद्धि, पौरूष सब क्षीण” 40% आबादी...

वीरांगना मानवती बाई जयंती: कानपुर, बनारस, भगवंत नगर

कानपुर में वीरांगना मानवतती बाई हैहयवंशी का बलिदान दिवस  मनाया  कोरोना के साए में कानपुर में वीरांगना मानवतती बाई हैहयवंशी का बलिदान दिवस  मनाया गया | उपस्थित महानुभावों ने वीरांगना को श्रद्धा सुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि...

जात न पूछो साधु की

किसी भी तालाब के पानी को गंदा होने में ज्यादा वक्त नही लगता, जबकि नदी का पानी अपनी रवानगी, अपने बहाव के कारण शुद्ध होता रहता है ।हमारा मस्तिष्क भी पोखर हो सकता है, तालाब हो सकता है, नदी हो सकता है और समुद्र भी हो सकता...

मिठाइयों के संदेश

प्रेषक: श्री गोपाल कसेरा (फोन: 8602699970) हमारी मिठाइयों पर गौर कीजिए, कुछ ना कुछ संदेश देती है, जैसे 1️⃣ *जलेबी* आकार मायने नहीं रखता, स्वभाव मायने रखता है, जीवन मे उलझने कितनी भी हो, *रसीले और मधुर रहो* ॰॰ 2️⃣...

प्रत्येक जनपद में बैठकों का आयोजन हो

प्रत्येक जनपद में बैठकों का आयोजन होश्री कमल चंद्र हयारण ( फोन: 9454873638 ) साथियों आज हम देख रहे है कि हमारे समाज में एकता का अभाव है हम कितना ही प्रयास करे कि समाज मे एकता रहे लेकिन इस दिशा में प्रयास बिफल रह ! इसका...

विचारों से आगे

विचार किसी भी कार्य का आरम्भ है, जैसे किसी आलीशान भवन की नींव के पत्थर, नींव जितनी मजबूत होगी, भवन की उम्र उतनी ज्यादा, उसी तरह हमारे विचार जितने परिष्कृत होंगे हमारे कार्यों की सफलता उतनी ही सुनिश्चित होगी।प्रदीप

अच्छी शुरुआत का अज्ञात अंत

यह हमने अक्सर देखा होगा, समाज मे बहुत से मुद्दों पर चर्चाएं होती रहती है । एक स्वाभाविक प्रक्रिया के अनुरूप विचारों का आदान-प्रदान होता है और जब बात कुछ ज्यादा देर चल जाती है तो एक अच्छी शुरुआत मान कर उस दिन की चर्चा को...

डिजिटल क्रांति का आरम्भ

विमर्श के द्वारा संपूर्ण हैहयवंश को समर्पित मोबाइल एप्लीकेशन की उत्पत्ति हेतु प्रदीप वर्मा जी को हृदय की अनंत गहराइयों के साथ बहुत-बहुत आभार और धन्यवाद आने वाले समय में यह डिजिटल क्रांति मील का पत्थर साबित होगी। आशीष...

नई दिशा देने में सक्षम

यह सामाजिक app बनाने वाली टीम को बधाई और शुभकामनाएं प्रेषित करता हूं ये हमारी समाज को नई दिशा देने में सक्षम साबित होगा

दिनेश कसेरा (9425819402)

दानशीलता की अच्छाई और बुराई

दानशीलता का विषय अच्छाई/बुराई के बीच शुरु से झुल रहा है  फिर भी कोई भी सामाजिक अथवा धार्मिक  और सार्वजनिक कार्य बिना चंदे के नही चलते हैं | समाज से दान प्राप्त होता है  तभी आज तक बदस्तुर चल रहे हैं |...

नए तरीके से समाज सेवा

कुछ दिन पूर्व मेरे एक परिचित पर दोहरा संकट आया, कोरोना ने रोजगार छीन लिया और स्कूल वालों ने बच्चों से बिना फीस जमा किये ऑनलाइन क्लास अटेंड करने का अधिकार । मेरा मित्र और उसका परिवार अत्यंत दुखी हुआ । उसकी स्थिति देख कुछ...

हर एक व्यक्ति का योगदान है जरूरी

हर एक व्यक्ति का योगदान है जरूरीदुनिया के बड़ेबड़े नेता, उद्योगपति, धनाढ्य लोग अपने कर्तव्यों के प्रति जिम्मेदारी पूरी निष्ठा से निभाते हैं । एलन मस्क जो लोगों को अंतरिक्ष की सैर करवाने हेतु अपनी स्पेसएक्स कंपनी का...

टेक्स्ट की साइज़ सेट करें