डिजिटल विमर्श

लेखक - डॉ॰ विष्णुस्वरूप चंद्रवंशी

Home » Archives for डॉ॰ विष्णुस्वरूप चंद्रवंशी

आओ समाज को होली के रंगो से भरे

सम्मानित  स्वजाति बंधुओं इस बार होली पर हम सब मिलकर इस बात पर विचार करे होली हमें इस बात का संदेश देती है कि सभी के जीवन में खुशियों का रंग भरा रहे। संवत्सर होलिका दहन से होता है। जो सभी बुराईयों को पीछे छोड़ जाने का...

वसंत के रंग समाज के संग

वसंत के रंग समाज के संग बसंत पंचमी को  हमारे समाज में बहुत ही शुभ मुहूर्त समझा गया है। प्राय: हर समाज में इस नवागुत शुभ मुहूर्त में बहुत से चीजों जैसे संस्कार कार्य, गृह प्रवेश, विद्या किये जाने हेतु और शादी विवाह आदि...

सामजिक चरित्र का निर्माण

सामजिक चरित्र का निर्माण किसी भी समाज के संगठन एवं सफल निर्माण और क्रियानावन के लिए समाज में  एक उच्च चरित्र का होना आवश्यक है| सामाजिक चरित्र किसी भी समाज के लिए एक स्थाई  और सुद्रिढ गुण है। सामाजिक संरचना के हम सभी...

क्या विवाह एक सामाजिक समस्या है?

ख़ुशहाल शादी में तीन चीज़ें होती है: एक साथ होने की यादें, गलतियों की माफ़ी और कभी भी एक-दूसरे को न छोड़ने का वादा. सुरभि सुरेंद्र आज यह समस्या केवल हमारे हैहयवंश समाज के लिए ही नहीं परन्तु सर्व समाज में एक चिंता का विषय...

सहस्रार्जुन जन्मोत्सव पर विशेष

हैहयवंश समाज के बंधुओं युग परिवर्तन ही सामाजिक जीवन का नए परिवेश धारण करने का मंत्र सिखाता है| जिस प्रकार हम प्रकृति के ऋतुओं के परिवर्तन होने पर उसी के अनुरूप वस्त्र आदि धारण कर अपना जीने का जीवन सुगम बनाते है| ठीक उसी...

सामाजिक स्वतंत्रता एक आवश्यकता

देश हर वर्ष अपनी स्वंतन्त्रता की वर्षगाठ बड़े ही धूम-धाम और शान से मनाता है| समाज के हर वर्ग/समुदाय के लोग इस जश्न में समान रूप से सम्मलित होते है| किसी राज्य / देश की स्वतंत्रता उस राज्य / देश के संगठन और विकास के लिए...

टेक्स्ट की साइज़ सेट करें