समाज सेवा, साहित्य एवं काव्य जगत के साश्वत हस्ताक्षर : श्री लक्ष्मीनारायण “उपेन्द्र”

जन्म एवं पारिवारिक परिचय  मध्यप्रदेश के सागर जिले की सबसे प्राचीन, कृषि एवं कृषि यंत्रों की उत्पादक तहसील के रूप में पहचान रखने वाली तहसील खुरई में 17 अक्तूबर 1952 को दीपावली की पूर्वसंध्या को, स्थानीय हैहयवंशीय क्षत्रिय परिवार में श्री गौरिशंकर जी हयारण की धर्मपत्नी श्रीमती श्याम बाई ने एक तेजस्वी और रूपवान बालक […]

Continue Reading

केप्टिन श्रीकिशोर करैया

हैहवंशी क्षत्रीय ताम्रकार (कसेरा ) समाज के गौरव विलक्ष्ण प्रतिभा के धनी, केप्टिन श्री किशोर करैया ,होशंगाबाद निष्ठावान कर्तव्यनिष्ठ अग्रणी समाज सेवी केप्टिन श्रीकिशोर करैया आत्मज स्वर्गीय श्री गोवर्धनजी (बाबुलालजी करैया )आप हैहयवंशी क्षत्रीय ताम्रकार (कसेरा ) समाज के प्रदेश सचिव जैसे महत्व पूर्ण पद का भार कुशलता पूर्वक संभाल रहे है । समाज को […]

Continue Reading

सेवा, शिक्षा और दानशीलता के पर्याय : श्री नन्दकिशोर जी बड़वार (ताम्रकार)

(7 फरवरी 22 वाँ पुण्य स्मरण) मध्यप्रदेश के सागर जिले की सबसे प्राचीनतम एवं बड़ी तहसील के रूप में विख्यात खुरई नगरी की पहचान सबसे उन्नत किस्म के गेंहू के उत्पादन और गुणवत्ता पूर्ण कृषि संयंत्रों के निर्माण के रूप में होती है ।  खुरई नगर के हैहयवंशीय क्षत्रिय ताम्रकार समाज में पीतल बर्तन निर्माण और […]

Continue Reading

निष्काम कर्मयोगी: श्री हरीनारायण जी ताम्रकार

26 जनवरी 2021 (15 वीं पुण्यतिथि पर विशेष) मध्यप्रदेश के सागर की पहचान शिक्षाविद डॉ सर हरिसिंह गौर विश्वविधालय के लिये देश और दुनियाँ में होती है । झीलों की नगरी सागर के केशवगंज वार्ड में हैहयवंशीय क्षत्रिय समाज के ” पायगा वाले ” परिवार में चांदी के आभूषणों का निर्माण कार्य से जुड़े श्री […]

Continue Reading