श्री दत्तबावनी

श्री दत्तबावनी यह दत्त बावनी है, इसकी मूल रचना गुजराती में है, जिसका मराठी अनुवाद साथ ही है। हिंदी अनुवाद हेतु मुझे प्राप्त हुई थी, मैंने अपने सीमित मराठी भाषा ज्ञान के आधार पर इसका हिंदी अनुवाद कर प्रेषित किया था, संभवतः अनुवाद में किंचित त्रुटियां भी हो सकती हैं । या स्तोत्राची रचना नारेश्वरनिवासी […]

Continue Reading

भगवान् दत्तात्रय जी की जन्मोत्सव पर विशेष भेंट

भगबान्  कार्त्तबीर्य  सहस्रार्जुन जी के पूज्य गुरू देब योगीराज भगबान् दत्तात्रेय जो कि श्री बिष्णु जी के चौबिस अबतारो मै एक है ! इनके चौबिस प्राकृतिक गुरू थे जिसमे अजगर -साँप – गाय – कुत्ता इत्यादि थे , को अपना गुरू माना ! ये योगियो मै परम् योगी थे ! इनके पिता का नाम अत्रि […]

Continue Reading

हैहयवंशियो के परम संरक्षक गुरू दत्तात्रेय

(दत्तात्रेय पूर्णिमा ( जन्मोत्सव)   29 दिसम्बर 2020 ,  हैहयाव्द 1773 पर विशेष) अनाचार व अत्याचार हर युग मे हुआ है और जव- जव अत्याचार की  अति हुई तो तव- तव इस मर्त्यलोक पर भगवान् श्री विष्णु जी ने अवतार लिया,  और अत्याचार को नाश(अंत) कर धर्म की स्थापना कर वे अपने लोक को गमन कर […]

Continue Reading

सहस्रबाहु अर्जुन के जीवन ऐतिहासिक विश्लेषण

भागवत पुराण में किर्तिविर्य सहस्रबाहु अर्जुन का राज्यकाल 85 हजार बर्ष एवं एक हजार भुजाओं होना बताया गया है, जोकि कल्पनिक, अविश्वसनीय होकर सत्य प़तित नहीं लगता है | इस प्रकार हमारे पुराणों में सहस्रबाहु का जीवन चरित्र अतिशयोक्तिपूर्ण होकर सहस्रबाहु की छवि को अत्याधिक महिमामंडित किया गया है | इस प्रकार अविश्वसनीय तथ्यों के […]

Continue Reading

सहस्रार्जुन जन्मोत्सव पर विशेष

हैहयवंश समाज के बंधुओं युग परिवर्तन ही सामाजिक जीवन का नए परिवेश धारण करने का मंत्र सिखाता है| जिस प्रकार हम प्रकृति के ऋतुओं के परिवर्तन होने पर उसी के अनुरूप वस्त्र आदि धारण कर अपना जीने का जीवन सुगम बनाते है| ठीक उसी प्रकार सामाजिक परिवर्तन की स्थिति भी हमें अपने जीवन जीने के […]

Continue Reading

भगबान् श्री कार्त्तबीर्य सहस्रबाहु अर्जुन जी का जीबन चरित्र! 

अथेष्टदान्मनून्वक्ष्ये कार्त्तबीर्य्य स्यगोपितान् ! यः सुदर्शनचक्रस्याबतारः  क्षितिमण्डले!!                             अर्थात्… इसलिये मै अभीष्ट दान को बताता हूँ  जो कार्त्तबीर्य का गुप्त रखा हुआ  भू- मण्डल  पर सुदर्शन चक्र अवतार है !   भगबान् कार्त्तबीर्यार्जुन  स्बयं ही सुदर्शन् चक्र का पूर्ण अबतार है ! सुदर्शन् चक्र निर्दयता पूर्वक बिध्नो का नाश कर अभय और सफलता प्रदान करता है! […]

Continue Reading

आओ मनायें हैहय जन्मोत्सव! 

अश्विन मास शुक्ळ पक्ष की प्रतिपदा विक्रमी संवत्२०७७ दिन शनिवार (१७ अक्टूबर २०२०) को हैहयकुळ मार्तण्ड  धर्मात्मा नृप श्रेष्ठ  श्री विष्णु -लक्ष्मी अबतारी  भगबान्  ‘ हैहय ” का जन्मोत्सव है!  अश्बवाणी शुक्ळपक्षे प्रतिपदा मन्दवासरे मध्य दिवसे अभिजिते जन्मावित जनार्दनः ! मयूर चन्द्र त्वया वंश ययाति नृपः तथैव च्  तस्य पुत्रं सुपुत्रं च् हैहय देव जनार्दनः !! […]

Continue Reading